Book an Appointment with a Doctor

  Book an appointment  

FAQ

Home/Faq

Does age affect woman`s fertility ?

The ideal age for a woman to have children is between twenty-five and thirty years of age. But today, many couples decide to plan parenthood later in life, owing to changes in lifestyle. After the age of thirty-five, a woman's fertility drops noticeably and after forty-five, the possibility of pregnancy exists only in rare cases.

 

When should you seek medical help for infertility ?

If you are a woman and less than 30 years of age, and have no previously diagnosed clinical condition, You can 'wait and watch' for 6- 12 months and then go for medical help. Note: For a woman and above 35 years of age, its advisable to take medical help at the earliest. If you as a couple suspect an infertility issue, you should consult any infertility experts at the nearest infertility centre.

 

Is there currently a drop in fertility rates ?

Male fertility has dropped due to lower sperm counts and lessened sperm motility (mobility). There are also more cases of older women seeking to become mothers. Lifestyle and environmental pollution is playing an important role in the observed higher incidences of infertility. Mobile kept in pants/ jeans pocket causes radiation / heat damage to the sperms. This should be avoided as much as possible.

 

When is IVF needed ?

IVF was originally developed for women with blocked tubes or missing fallopian tubes and it is still the procedure of choice for these situations. It is also used when other conditions are present, including endometriosis, male factor infertility and unexplained infertility in which no medical cause for infertility can be found.

 

Is the IVF technique painful ?

The only procedure that could be considered a minor surgery in the IVF process is the retrieval of the eggs from the ovary. During this procedure, a needle attached to a vaginal ultrasound probe is passed through the wall of the vagina and into each ovary. Under anesthesia this procedure is almost painless. Most patients go home 1 to 2 hours postretrival and can resume normal activity from very next day.

 

Is bed rest required after IVF ?

After embryo transfer the patient can get up immediately or after 3 - 5 minutes. Patient goes back home within half an hour. Routine work can be resumed three days after embryo transfer.

 

Are the babies born after IVF treatment normal ?

IVF babies are as normal as any other babies.

 

Chances of birth defect in children born after IVF ?

It is important to recognize that the rate of birth defects in humans in the general population is about 3% of all births for major malformations and 6% if minor defects are included. Fortunately, 20-plus years following Louise Brown's birth (the first IVF baby), we now have ample data that children conceived through IVF have no increase in these rates of birth defects due to the technique itself. Minor rise in abnormalities is ascribed to the infertility and age factor of the intending parents. Further follow-up on older children indicates that IVF children have done as well or better than their peers in academic achievement (probably a social bias) and have no higher rates of behavioral or psychological difficulties.

 

When do I need an egg donor ?

Women who are suffering from premature menopause or are unable to produce healthy eggs, but have a healthy uterus are candidates for egg donation with IVF. This procedure is the same as for IVF except we will select a healthy anonymous donor and use the donor's egg to create the embryo. We welcome personal donors.

 

When is a surrogate required ?

A woman who accepts to bear (or be pregnant with) the child of another woman who is incapable of becoming pregnant using her own uterus is called a gestational carrier. Women who need gestational carriers with IVF include those who do not have a uterus, have an abnormal uterine cavity, have had several recurrent miscarriages or have had recurrent, failed IVF cycles. "Surrogate" is an older term for what we now refer to as a "gestational carrier".

 

Why not just remove the stones and not the gallbladder?

This is not technically practical and makes no sense since the organ is not needed.

 

Any other treatment besides surgery for gallstones?

A medication called ursodiol (Actigal) may slowly dissolve some gallstones in a small number of people. Treatments such as trying to melt the stones with solvents, fracture them with lithotripsy (like kidney stones) have been tired but have proven impractical, mostly ineffective; especially when compared to laparoscopic removal of the organ.

 

How much time until I can resume activities such as driving ?

On average most people feel recovered in about 4 or 5 days. As with all laparoscopic surgery, resumption of activities can be done when the patient feels able to do so. So, if you are comfortable with driving in a couple of days and can do so safely without narcotic pain medicine then you may proceed. The same goes for any activity.

 

What are my diet restrictions after the surgery ?

Removal of the gall bladder does not limit your diet or eliminate any particular foods from your diet. Some patients may experience minor changes in digestion and/or bowel function which is usually not long lasting.

 

प्र. इनफर्टिलिटी / बांझपन क्या है ?

उ. शादी के एक साल तक साथ रहने के बाद भी यदि गर्भधारण न हो तो इसे इनफर्टिलिटी / बांझपन कहते हैं|

 

प्र. क्या यह समस्या बढ़ रही है ?

उ. जी हाँ , सामान्यतया 10 – 15 प्रतिशत दम्पति इस समस्या से ग्रस्त हैं | और देखने में आया है कि 1980 के दशक के बाद से इस समस्या में 4 प्रतिशत तक वृद्धि हुई है |

 

प्र. इस समस्या का मुख्य कारण क्या है ?

उ. सबसे पहले तो शादी करने की उम्र का बढ़ना | कैरियर बनाने के लिए लड़के और लड़कियां शादी को टालते रहते हैं | अधिक उम्र होने के कारण खासतौर पर लड़कियों और महिलाओं में अंडे की संख्या व क्वालिटी पर प्रभाव पड़ता है | इसके अलावा तनाव ,प्रदूषण व हानिकारक विकिरण तथा मोबाइल फ़ोन का बढ़ता हुआ प्रयोग भी इस समस्या के बढ़ने का कारण है |

 

प्र. सामान्य स्थिति में गर्भधारण के अवसर कब होते हैं ?

उ. एक सामान्य मासिक चक्र वाली महिला में लगभग 11वें और 12वें दिन पर अंडा तैयार होता है | हार्मोन के प्रभाव से यह अंडा अंडाशय से निकल कर ट्यूब में पहुँचता है | यह समय गर्भधारण के लिए उचित होता है |

 

प्र. गर्भधारण न होने पर किसी दम्पति को डॉक्टर की सलाह कब लेनी चाहिए ?

उ.शादी के एक साल निकल जाने पर भी यदि गर्भधारण न हो तो पति – पत्नी दोनों को डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए | दोनों की जाँच होनी चाहिए ताकि गर्भधारण न होने का कारण पता लगाया जा सके | अगर उम्र 35 से ज्यादा है तो 6 महीने बाद ही डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए |

 

प्र. यदि कोई दम्पति गर्भधारण करना चाहता है तो किस – किस बात का ध्यान रखना चाहिए ?

उ. पुरुषों के लिए यह सलाह रहेगी कि धूम्रपान तथा शराब का सेवन न करें | धूम्रपान करने वाले पुरुषों में बांझपन के अवसर (सम्भावना) अन्य पुरुषों से 60 प्रतिशत अधिक होते हैं |क्योंकि धूम्रपान व मधपान कोशिकाओं को नुकसान पहुँचाता है जोकि वीर्य शक्ति के लिए हानिकारक होता है | इसके अतिरिक्त अंदरूनी कपड़े भी काफी सख्त इस्तेमाल नही करने चाहिए | इससे पेट की ऊष्मा से शुक्राणुओं की मात्रा कम हो जाती है | मोबाइल फ़ोन व लैपटॉप का प्रयोग भी कम से कम करें | स्त्रियों को चाहिए यदि वे गर्भधारण करना चाहती हैं तो वह फोलिक एसिड की गोलियां खानी शुरू कर दें और यदि उनका वजन अधिक है तो उसे कम करने की कोशिश करें | फिर भी यदि गर्भधारण नही हो पा रहा तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें | 50 प्रतिशत केसों में हो सकता है कि कोई बहुत छोटी सी समस्या हो जो कुछ दवाएं लेकर हल हो जाए जैसे कि अंडा न बनने की समस्या | इसके अलावा आई . यू . आई . की मदद ली जा सकती है |

 

प्र. गर्भधारण के लिए उपयुक्त आयु क्या है ?

उ. 20 से 35 वर्ष की आयु गर्भधारण के लिए सबसे सही है |

 

प्र. आई.वी.एफ. तकनीक क्या है ?

उ. शरीर के बाहर अंडे और शुक्राणु को शरीर के अन्दर जैसी परिस्थितियाँ उपलब्ध कराके बच्चा बनाना और फिर उसे बच्चेदानी में रखना आई.वी.एफ. कहलाता है |

 

प्र. बच्चा बनने के कितने दिन बाद बच्चेदानी में रखा जाता है ?

उ. सामान्यतया दो या तीन दिन बाद परन्तु अब आधुनिक तकनीक में पांच दिन तक भ्रूण को प्रयोगशाला में बढ़ने दिया जाता है और फिर गर्भाशय में रखा जाता है इस का फायदा यह है कि जो भ्रूण इतने दिन तक जीवित रह लेता है उसकी गर्भधारण कराने की सम्भावना 50 प्रतिशत तक बढ़ जाती है|

 

प्र. आई.वी.एफ. की जरूरत किन लोगों को होती है ?

उ.सबसे प्रमुख तो ट्यूब्स का बंद होना होता है क्योंकि ट्यूब्स में ही अंडा व शुक्राणु का मेल होता है| यदि ट्यूब्स खराब हैं तो सामान्य तरीके से गर्भधारण नही हो पाता | इसीलिए ट्यूब्स का काम प्रयोगशाला में किया जाता है | दूसरे जिन महिलाओं की माहवारी बंद हो गई है , तो उसमे किसी अन्य महिला से अंडा लेकर आई.वी.एफ. किया जा सकता है| प्राइमरी ओवेरियन फेलियर की मरीज जिनमें कि बहुत कम उम्र में अंडा बनना बंद हो जाता है उन्हें आई.वी.एफ. की मदद से गर्भधारण कराया जा सकता है | पुरुषों में जिनके शुक्राणु कम होते हैं या बिलकुल नहीं होते उनमें आई.वी.एफ./इकसी/पिजा/मिज़ा तकनीक द्वारा उन पुरुषों का खुद का बच्चा हासिल किया जा सकता है |

 

प्र. आई. वी. एफ. प्रक्रिया के जरिये इलाज कराने के बाद यदि बेड रेस्ट न किया जाए तो भ्रूण खराब हो सकता है ?

उ. ऐसी धारणा गलत है | सच तो यह है कि महिला के गर्भाशय में भ्रूणप्रत्यारोपित करने वाले दिन ही वह किसी भी दिक्कत के बगैर चल – फिरकर क्लीनिक से जा सकती है | डॉक्टर ऐसी महिलाओं को भ्रूण प्रत्यारोपण के तीन दिन बाद ही नियमित कार्य करने की इजाजत दे देते हैं |

 

प्र. क्या आई.वी.एफ.में दो या तीन बच्चे होने की सम्भावना रहती है ?

उ. जी हाँ | आई.वी.एफ. करते समय गर्भाशय में दो या तीन बच्चे रखे जाते हैं तो कभी – कभी वे दोनों या तीनों बच्चे ही इम्प्लांट हो जाते हैं, इस प्रकार दो या तीन बच्चे भी हो सकते हैं|

 

प्र. क्या आई.वी.एफ.में दो या तीन बच्चे होने की सम्भावना रहती है ?

उ. जी हाँ | आई.वी.एफ. करते समय गर्भाशय में दो या तीन बच्चे रखे जाते हैं तो कभी – कभी वे दोनों या तीनों बच्चे ही इम्प्लांट हो जाते हैं, इस प्रकार दो या तीन बच्चे भी हो सकते हैं|

 

प्र. जो लोग एक ही बच्चा चाहते हैं उनके लिए क्या हल है ?

उ.आजकल D5 या Blastocyst transfer किया जाता है, जिससे गर्भधारण की सम्भावना भी बढती है और साथ ही केवल एक ही बच्चा होता है |

 

प्र. आई.वी.एफ. में सफलता की दर कितनी है ?

उ. अंतर्राष्ट्रीय सफलता की दर 30 से 40 प्रतिशत है यानि केवल भारत के छोटे – बड़े शहरों में ही नही अमेरिका जैसे देशों में यह दर इतनी ही है

 

प्र. क्या आई.वी.एफ. में गर्भपात की संभावना अधिक होती हैं ?

उ. सामान्य गर्भावस्था में भी गर्भपात की सम्भावना 20 प्रतिशत तक होती है और इतनी ही सम्भावना आई.वी.एफ. गर्भावस्था में भी होती है |

 

प्र. क्या आई.वी.एफ. में गर्भपात की संभावना अधिक होती हैं ?

उ. सामान्य गर्भावस्था में भी गर्भपात की सम्भावना 20 प्रतिशत तक होती है और इतनी ही सम्भावना आई.वी.एफ. गर्भावस्था में भी होती है |

 

प्र. क्या आई.वी.एफ. से पैदा होने वाले बच्चे भी अन्य बच्चों की तरह सामान्य होते हैं ?

उ. प्राकृतिक तौर पर होने वाले गर्भाधान में भी बच्चे की बनावट में खराबी आने की सम्भावना 2 प्रतिशत होती है और आई.वी.एफ. में यह 3 – 5 प्रतिशत होती है | यानि बहुत अधिक अंतर नही होता |इस प्रकार यह समझ लें कि आई.वी.एफ. की तकनीक काफी पुरानी, सुरक्षित, भरोसेमन्द तथा फायदेमंद है |

 

प्र. किराये की कोख किसे कहते हैं ?

उ. कोई ऐसी परिस्थिति जिसमें महिला अपनी कोख में बच्चा रखवाने में सक्षम नही होती जैसे कि कई बीमारियाँ जैसे- हृदय रोग ,गुर्दा रोग में जहाँ बच्चे का कोख में पलना माँ की जिन्दगी के लिए हानिकारक होता है ऐसे में अंडे और शुक्राणु के मेल से बच्चा बनाकर किसी और महिला की कोख में रख दिया जाता है |

 

Leading the Way in Medical Excellence.

 FIND US

  •   Call Us: +91 82229-66666, 01666-226888<
  •   Apex Hospital, Circular Road, Sirsa, Haryana, India-125055
  •   apexhospital@hotmail.com
  •               
  • POPULAR POST

     

    © 2017 ApexHospital, All Rights Reserved

    Designed & Developed By : SIRCL Tech Pvt. Ltd.